Emotionally Speaking



« | »

Hindi Poem on Bapu—Mahatma Gandhi

This is a Hindi poem on Mahatma Gandhi (Bapu, Mohandas karamchand Gandhi). This was written in July 2013 on request by a kid’s mother for the elocution contest of her child. This will be useful for anyone looking for Poem on Gandhiji, Gandhiji slogans or even a Hindi poem on Independence, freedom struggle, India, truth and non violence etc. I have one more HIndi poem on Gandhi ji. Feel free to request poems, slogans here. Click here to see other Hindi posts. You are reading this at vikas-gupta.in

Copyright: Vikas

 

महात्मा गाँधी

poem by Vikas-gupta dot in.

 

आज हम आपको बताएँगे

महात्मा गाँधी के बारे में

जिनका नाम चमक रहा है

देश के गलियारे में |

 

कौन है जिसने आजादी दिलाई,

जीने की हमको राह सिखलायी ?

कौन देश पे कुर्बान हुआ,

कौन इतना महान हुआ ?

 

किसने अंग्रेजों के खिलाफ

लोहा लेना सिखलाया ?

किसने बगैर एक थप्पड़ के  

हमको लड़ना सिखलाया ?

poem by Vikas

 

कौन था जो सबको

एकता का मंत्र दे गया ?

किसने हमें आज़ाद कराया

15 अगस्त दे गया ?

 

कौन था जो भटक रहे

लोगों को रास्ता दिखलाया ?

किसने गुलामी झेल रहे

भारत को आज़ाद कराया ?

 

वो कोई और नहीं

वो महात्मा गाँधी थे |

सत्य, अहिंसा के दम पे

वो चलती-फिरती आंधी थे |

 

जब कभी जीवन में तुम

हिम्मत लगो हारने

तो गाँधीजी को याद करो

और लगो ये विचारने —

 

कि यदि एक साधारण आदमी  

ब्रिटिश साम्राज्य को हिला सकता है

तो फिर हर आम इंसान

क्या कुछ नहीं कर सकता है ?

 

बस जीवन में

ये याद रखना

सच और मेहनत का

सदा साथ रखना |

 

बापू तुम्हारे साथ हैं

हर बच्चे के पास हैं |

सच्चाई जहाँ भी है

वहाँ उनका वास है |

Posted by on October 1, 2013.

Categories: हिन्दी/Hindi Posts

« | »




Recent Posts


Pages