वोट दे आओ Go to Vote – a Hindi poem

Written by vik

Topics: हिन्दी/Hindi Posts

This Hindi poem/slogans/rhymes/kids poem exhorts people to go for voting on the voting day. It says go with your voter ID card in morning and exercise your choice lest bad people will come to power for the next five years. Also see this Hindi poem on voting, poem on politics. Copyrighted to Vikas

अहा, क्या सुहानी सुबह है
आज मतदान करूँगा
वर्ना पांच साल भला,
क्या धर के धरूंगा !

अपने क्षेत्र से हमें
सही उम्मीदवार भेजने हैं
जो कुछ काम करेंगे
ऐसे नेता खोजने हैं !

आज बड़ा खास दिन है
समझो लोकतंत्र का त्यौहार |
मतदान करेंगे फिर बनेगा
बेहतर हमारा संसार |

(you are reading this on vikas-gupta.in)

मतदाता पहचान पत्र उठाओ
सुबह-सवेरे वोट दे आओ !
वोट को हल्के में न लेना
वर्ना पांच साल तक पछताओ !

Comments are closed.