WhatsApp Tips: वॉट्‍सऐप पे दुर्घटना कम करने के बारे में मेरे सुझाव/आइडियाज l

The following message was circulated by me to my office people on the WhatsApp group last month and it many benefitted from it. See if it helps you too. Among other things, it talks of ways to prevent accidental WhatsApp forwards to groups, creative way of having a group (with yourself added in it as a contact) for your own notes, pinned groups (which some people did not know about) and so on.

*वॉट्‍सऐप पे दुर्घटना कम करने के बारे में मेरे सुझाव/आइडियाज  l*
_____
1. वॉट्‍सऐप पे आप तीन चैट/ग्रुप सबसे ऊपर पिन (लॉक) कर सकते हैं | इससे ये होगा कि जो भी नया मेसेज किसी भी चैट या ग्रुप में आएगा वो इन तीनों के नीचे ही रहेगा | सर्वोत्तम यही है कि आप अपने पर्सनल चैट/ग्रुप ऊपर पिन कर लें  वॉट्‍सऐप  होम पेज में लिस्ट में किसी भी चैट पे देर तक प्रेस करें (long press) , तो पिन करने का आप्शन प्रकट होगा (आप्शन नहीं आता तो वॉट्‍सऐप एप्प अपडेट कीजिये ) |
(२० मई २०१७ से ये आप्शन वॉट्‍सऐप में है | आमतौर पे मेसेज तभी इधर उधर फैल जाता है जब आप उसे फॉरवर्ड कर रहे होते हैं और कोई और चैट ऊपर प्रकट हो जाता है क्योंकि उसमे ताजा मेसेज आ रखा है |) जीमेल में सेटिंग्स में तो आप्शन ही होता है की आप भेजे हुए मेल को तीस सेकंड तक अनडू कर सकते हैं | इसका इस्तेमाल कीजिये यदि अभी तक अनभिज्ञ हैं इस आप्शन से |
2. एक और सलाह पर इसपर शायद कम ही लोग अमल करें | पहले खुद के नंबर कॉन्टेक्ट्स में अपने फ़ोन में सेव कर लें | अब वॉट्‍सऐप पे एक (या एक से ज्यादा ) नया ग्रुप बना लें और इसमें सिर्फ खुद को जोड़ लें | इसका नाम दे दें ‘कच्चा कार्य’ आदि | जब संदेस भेजने की तलब हो तो इसी में चिपका के थोड़ी देर मानसिक शांति की अनुभूति करें | आप इसका इस्तेमाल रफ़ वर्क आदि के लिए भी कर सकते हैं या अपने लेखन , मेसेज टाइपिंग, आदि में सुधार के लिए, एनिवर्सरी बर्थडे  याद रखने के लिए आदि | पूरे व्हात्सप्प में आपकी डिजिटल डायरी बन सकती है इस तरह |
(जिस तरह इन्टरनेट, वॉट्‍सऐप, फ़ोन आदि हमारे जीवन अभिन्न अंग बन गए हैं, ये स्वीकार करने में कोई संकोच  नहीं होनी चाहिए कि कई बार बरबस ही सन्देश पढने, चेक करने या फॉरवर्ड करने का मन होता है | ये मनोवैज्ञानिक मुद्दा है | जरुरत पड़े तो इसी में ‘गुड मोर्निंग’ आदि दाग दीजिये |)
3. ग्रुप्स के सेटिंग्स में जा के नोटिफिकेशन म्यूट (बंद) कर दें एक साल या उससे कम के लिए | जब टाइम मिले तब दिने में दो तीन बार  देख लीजिये, सन्देश जैसे आते हैं वो वैसे ही प्रेषित होते रहेंगे | आप प्रत्येक एप्प का नोटिफिकेशन सेटिंग से डिसेबल कर सकते हैं ताकि ज्यादा सुकून रहे नहीं तो फ़ोन के नोटिफिकेशन जोन में काफी ट्रैफिक, चिल्ल पों मचा रहता है और बेवजह सरदर्द और ध्यान बंटता रहता है |
धन्यवाद |
विकास,
अंग्रेजी टीम से, *** कर्मचारी |

 

 

Leave a Comment Here's Your Chance to Be Heard!